• Kailash Mansarovar Yatra By OverlandJoin Group
  • Kailash Mansarovar Yatra By Helicopter Ex KathmanduJoin Group
  • Kailash Mansarovar Yatra By OverlandJoin Group
  • Kailash Mansarovar Yatra By Helicopter Ex KathmanduJoin Group

कैलाश मानसरोवर यात्रा हेलीकाप्टर द्वारा काठमांडू

0
Price
From
INR 2,00,000/USD 4,000
Price
From
INR 2,00,000/USD 4,000

    Full Name*
    Email Address*
    Mobile Number*
    Country Name*
    Your Enquiry*

    Save To Wish List

    Adding item to wishlist requires an account

    4317

    Why Book With Us?

    • Responsible Travel
    • At “Kailash Yatra – NTP “we have always believed in three simple guiding principles for the way in which we want to travel.
    • We realise that every destination is someone else’s home.
    • We should leave places as we would like to find them.
    • We should ensure that communities benefit from our visit.

    Get a Question?

    Do not hesitage to give us a call. We are an expert team and we are happy to talk to you.

    +91-9810098099 (India)
    +977-9808896396 (Nepal)

    [email protected]

    09 Nights 10 Days
    Availability : May to September
    Kathmandu
    Kathmandu
    Max People : 200
    Tour Details

    Duration: 10 दिन

    Location: काठमांडू,  नेपालगंज, सिमिकोट, हिलसा, पुरंग,  मानसरोवर  लेक , तकलाकोट, दारचन, याम द्वार,  डेरापुख, डोलमा ला पास, ज़ुठुल्फुक

    यात्रा की लागत:

    भारत के नागरिकों के लिए:  INR 2, 00, 000 /प्रति व्यक्ति

    विदेशी नागरिकों तथा  NRI  के लिए :  4,000 USD /प्रति व्यक्ति

     

    अवलोकन:-

    माउंट कैलाश को तिब्बत में सबसे पवित्र स्थान माना जाता है; इस पवित्र स्थान पर हर साल हिंदुओं के साथ-साथ बौद्धों का भी लगातार प्रवाह होता है। इसे माउंट पर चढ़ने की अनुमति नहीं है। कैलाश, लेकिन एक पहाड़ के चारों ओर 38 किमी ट्रेक परिधि के साथ 52 किमी की कुल यात्रा कर सकता है।

    यह एक चार्टर्ड हेलीकॉप्टर द्वारा यात्रा है। काठमांडू से नेपालगंज और फिर सिमिकोट तक उड़ान भरें। सिमिकोट में, हिल्सा के लिए एक चार्टर हेलीकॉप्टर उड़ान बनाओ, जो चीन सीमा के सबसे नजदीक है और एल को ड्राइव करता है

    Puranmashi Dates, pooranmashi, Poornima, Purnima, When is Puranmashi in 2022?, Pooranmashi fasting days, puranmashi Vrat

    Full moon day in the lunar month is called as Puranmashi. Puranmashi fast is observed by the devotees on each full moon day of the year. Taking a holy dip in river is considered auspicious on this day. Shraddha and Satyanarayana vrat are the other rituals to be performed on this day.

    Here we are providing Puranmashi dates for the year 2022. This may vary by day according to your location.

    17th January 2022 – Monday – Paush  Puranmashi
    16th February 2022 –    Wednesday – Magha  Puranmashi
    17th March 2022 – Thursday – Phalguna  Puranmashi
    16th April 2022 – Saturday – Chaitra  Puranmashi
    15th May 2022 – Sunday – Vaishakha  Puranmashi
    14th June 2022 – Tuesday – Jyaishta  Puranmashi
    13th July 2022 – Wednesday – Ashadha  Puranmashi
    11th August 2022 – Thursday – Shravana  Puranmashi
    10th September 2022 – Saturday – Bhadrapada  Puranmashi
    09th October 2022 – Sunday – Ashwin  Puranmashi
    08th November 2022 – Tuesday – Kartik  Puranmashi
    07th December 2022 – Wednesday – Margashirsha  Puranmashi

    Our Kailash Mansarovar Yatra 2022 Puranmashi Departures are planned systematically keeping spiritual aspect in mind

    2022 फिक्स्ड तिथियाँ – हेलीकाप्टर के लिए काठमांडू आगमन तिथियाँ

    May June July August September
    09, 11 (F.M.), 17, 21 03, 08, 10 (F.M.), 15, 19, 20, 26 02, 07, 09 (F.M.) 07 (F.M.), 11, 20, 26 04, 06 (F.M.), 16, 22

    नोट: उपरोक्त तारीख काठमांडू आगमन तिथि है और पूर्णिमा (FM) मानसरोवर झील पर होगी

     

    Departure & Return Location

    Kathmandu

    यात्रा कार्यक्रम

    दिन - 01काठमांडू आगमन (1400 मीटर)

    आपके शहर से प्रस्थान करके काठमांडू त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुँचने पर हमारा प्रतिनिधि आप को मिलेगा जो आपको होटल पहुंचाएगा जंहा आप के ठहरने की व्यवस्था की गयी है। यँही आप शाकाहारी भोजन लेकर रात्रि में विश्राम करेंगे।

    दूरी – 0 कि.मी.: उँचाई – 1400 मीटर ; भोजन शामिल – डिनर

    दिन – 02पशुपतिनाथ मंदिर के दर्शन तत्पश्चात 1 घंटा 30 मिनट (150 मीटर) की उड़ान द्वारा नेपालगंज प्रस्थान 87

    सुबह नाश्ता लेने के पश्चात यात्रिओं के लिए पशुपतिनाथ मंदिर के दर्शन की व्यवस्था की गई है। समय मिलने पर बोधनाथ स्तूप के दर्शन की भी व्यवस्था की जा सकती है। दोपहर मे सभी सह-यात्रिओ के साथ घरेलु हवाई अड्डे पर नेपालगंज की उड़ान के लिए पहुँचाया जायेगा। नेपालगंज पहुँचने पर आपको रात्रि मे होटल मे ठहरने के लिए पहुँचाया जायेगा। यँहा सभी यात्री उन यात्रिओ से भेंट करें गेजिन की यात्रा नेपालगंज से ही शुरू हो रही है।

    दूरी -510 कि.मी.: उँचाई – 150 मीटर: भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता, लंच तथा डिनर

    दिन - 03नेपालगंज से सिमिकोट की उड़ान (4025 मी.), हेलीकाप्टर से हिलसा, हिलसा से शेरपा के लिए पैदल चढाई तथा वाहन द्वारा तकलाकोट प्रस्थान

    सुबह जल्द नाश्ता करने के पश्चात नेपालगंज हवाई अड्डे ले जाया जायेगा। यँहा से फिक्स्ड विंग विमान द्वारा सिमिकोट प्रस्थान करेंगे। सिमिकोट से चार्टर्ड हेलीकाप्टर द्वारा हिलसा प्रस्थान करेंगे। हिलसा पहुँचने पर हमारी शेरपा टीम आपको 45 मिनट काट्रैक तय करवाकर तिब्बत सीमा के शहर शेरपा तक पहुँचाएगी। यँहा पर हमारे वाहन (जीप, वैन, बस) आपका इंतज़ार कर रहे होंगे। यँहा से सभी यात्री कस्टम तथा अप्रवास की औपचारिकताओं को पूरा कर के तकलाकोट की और रवाना होंगे। तकलाकोट (बुरांग) पहुँचने पर होटल मे रहने की व्यवस्था है।

    दूरी – 275 कि.मी.: उँचाई – 4025 मीटर: भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता, लंच तथा डिनर

    रहने की व्यवस्था – सनवैली रिसोर्ट या उसी के समकक्ष

    दिन - 04पूरा दिन तकलाकोट (बुरांग) में अपने आपको वँहा की जलवायु के अनुकूल ढालने के लिए है

    तकलाकोट मे यह पूरा दिन आपके आराम के लिए सुरक्षित रहेगा। आप होटल मे रहकर बहुत आराम करें। कैलाश मानसरोवर की यात्रा बहुत ही कठिन है, इसके लिए आप अपने को जलवायु के अनुकूल तैयार करें वंहा के वातावरण के लिए अभ्यस्त करें ताकि आप यात्रा का भरपूर आनंद ले सकें। यदि आप चाहें तो आप वँहा के निजी बाजार तक टहल कर भी आ सकते हैं।

    यँहा से यूरो हेलीकाप्टर के द्वारा हिलसा प्रस्थान करेंगे। यूरो हेलीकाप्टर एक बार मे केवल 5 यात्री तथा 10 किलो सामान उठाने मे ही सक्षम है अतः आप से अनुरोध है कि केवल बहुत ज़रूरी सामान को ही लेकर चलें। एक साथ 2 हेलीकाप्टर उड़ान लेंगे ताकि सभी यात्रिओ को जल्दी से जल्दी हिलसा पहुँचाया जा सके।

    दूरी – 0 कि.मी. :उँचाई – 4025 मीटर: भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता, लंच तथा डिनर

    दिन - 05छुईगोम्पा को प्रस्थान, मानसरोवर (4590 मीटर)

    आज आपके इंतज़ार कि घड़ियां समाप्त होने जा रही है, आज आप पवित्र झील मानसरोवर के दर्शन करेंगे। सुबह नाश्ता लेने के बाद राक्षसताल के उबड़खाबड़ रास्ते से गुज़रते हुए छुई गोम्पा पहुंचेंगे। पवित्र झील मे स्नान करके अपने को लाभान्वित करें तत्पश्चात आपके पास अपने खर्च पर पूजा तथा हवन का पर्याप्त आनंद उठा सकते है (पूर्णिमा के दिन वाली यात्रा मे यह पूर्णिमा का दिन रहेगा)। पूजा एवं हवन के पश्चात्य दिसमय मिलेगा तो आप गरम पानी का झरना भी देख सकते हैं ( अतिरिक्त खर्च करके आप इस झरने मे स्नान भी कर सकते है, इसकी लागत पैकेज मे शामिल नहीं कि गई है) ।

    दूरी -110 कि.मी.: उँचाई – 4590 मीटर: भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता, लंच तथा डिनर

    रहने की व्यवस्था – मानसरोवर झील के नज़दीक अतिथि गृह में की गई है

    दिन - 06वाहन द्वारा 35 कि.मी. की मानसरोवर से तार्बोचे की यात्रा, डेरापुख की चढाई (16 कि.मी./5 – 7 घंटे)

    नाश्ता करके वाहन द्वारा तार्बोचे, जिस का एक नाम शेरशांगभी है, के लिए यात्रा आरम्भ करेंगे। रास्ते मे यमद्वार के भी दर्शन करेंगे। तार्बोचे पहुंचकर याक तथा याक के चालकों से भी भेंट करेंगे। यह कोरा का प्रथम दिन है यँही से यात्रा आरम्भ होती है। यदि आप याक तथा अपने सामान उठाने के लिए सहायक चाहते है तो किराया देकर यँही से लेना होगा। चढाई करते हुए पवित्र कैलाश पर्वत (उतरमुख) का पहला दर्शन करेंगे। आज हम डेरापुख शिविर में विश्राम करेंगे।

    दूरी -110कि.मी.: ऊँचाई – 4590 मीटर : भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता, लंच तथा डिनर

    दिन - 07ज़ुतुलपुख के लिए ट्रैक (5600 मीटर) - २२कि.मी./9 -10 घंटे की चढाई

    शिविर से ही कैलाश पर्वत के अविस्मरणीय दर्शन करके सुबह जल्दी ही चढाई शुरू करेंगे। यह एक दुर्गम ट्रैक है आप अपने को इस यात्रा के लिए मानसिक रूप से तैयार रखें। हम ट्रैक द्वारा पवित्र पर्वत के ठीक नीचे पहुँच जायेंगे। चढ़ाई करके सबसे ऊँचे शिखर ड्रोल्माला पास (5800 मी.) पहुँच जायेंगे। आज की बहुत ही खड़ी तथा पथरीली चढाई है। यँही से हम ज़ुतुलपुख के करमिक क्षेत्र के लिए उतरते हैं। उतरने के दौरान गौरीकुंड के दर्शन होंगे। घाटी से उतराई के समय रास्ता खुशनुमात था सुखद हो जाता हैं। इसी के साथ कुछ आराम भी मिलता हैं। यह पथ आपको कुछ कोमल ढलानों के माधयम से घास वाले मैदान मे ले जाता हैं।
    ज़ुतुलपुख पहुंचकर अतिथि गृह/शिविर में विश्राम करेंगे।

    दूरी -22 कि.मी.: ऊँचाई – 5600 मीटर: भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता, लंच मे फल, फ्रूटी, चॉकलेट, पीने के लिए पानी तथा रात्रि मे हल्का भोजन

    महत्पूर्ण बात – दारचन से परिक्रमा शुरू
    करने से पहले कुछ समय रुककर वँहा की स्थानीय पुलिस और सेना के अधिकारीयों से प्रतिबंधित क्षेत्र मे
    प्रवेश के लिए आज्ञापत्र प्राप्त करेंगे।
    – दारचन से यमद्वार की 7 की.मी. की दूरी वाहन से 30 मिनट मे तय की जाएगी।
    – यँहा की ऊँचाई 4950 मी. हैं।
    – यँहा का मौसम अत्यंत हवादार तथा वर्षा वाला हैं।

    दिन - 08ज़ुतुलपुख से दारचन की चढाई 10 कि.मी./4-5 घंटे तथा वाहन द्वारा 110 कि.मी./4-5 घंटे तकलाकोट की यात्रा

    अतिथि गृह/शिविर के पास ही नाश्ता परोसा जायेगा। यँहा आप गुफाओं की खोज में सुबह का आनंद ले सकते हैं। आसपास बने मंदिरों का भी दौराकर सकते हैं। यँहा पर आपकी भेंट मंदिर की देख रेख करने वाले एक बुज़ुर्ग दम्पति से होगी। यह मंदिर आधा दर्ज़न से भी अधिक तिब्बती भक्तों, सहायकों याइन के रिश्तेदारों का निवास स्थान है। ये सभी अपने आपको इन इमारतों की देख रेख में व्यस्त रखते हैं। इन गुफाओं में ध्यान साधना के लिए प्लेटफार्म बने हुए हैं। मानसरोवर पर्वत की यात्रा समाप्त होने से पहले इन गुफाओं की चढाई बहुत लाभकारी रहेगी। 10 कि.मी./4-5 घंटे चलने के बाद हम अपने अंतिम गंतव्य तक पहुँच जायेंगे जोकि दारचन के पास है। (जो यात्री परिक्रमा नहीं कर सके वे समूह के अन्य सदस्यों का स्वागत करने के लिए इंतज़ार कर रहे हैं) । यँही पर ही हमारे वाहन यात्री समूह को तकलाकोट होटल मे रात्रि विश्राम के लिए लेकर जाने के लिए इंतज़ार कर रहे होंगे।

    दूरी -165 कि.मी.: ऊँचाई – 4025 मीटर : भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता, लंच तथा डिनर

    – संभावित तापमान दिन केसमय 14 -22 डिग्री तथा रात्रिमें 3 – 5 डिग्री सेल्सियस रहेगा।
    – यँहा की जलवायु बहुत हवादार है।

    दिन - 09वाहन द्वारा तकलाकोट से शेरपा, पैदल ट्रैक से हिलसा तक उतरें, उड़ान द्वारा सिमिकोट नेपालगंज होते हुए काठमांडू के लिए उड़ान

    नाश्ता लेने के पश्चात हम वाहन द्वारा शेरपा पहुँचेंगें तथा यँहा से हिलसा के लिए पुलपार करते हुए उतराई करेंगें। हिलसा से चार्टर्ड हेलीकाप्टर द्वारा सिमिकोट पहुंचकर के बाद नेपालगंज के लिए निश्चित उड़ान लेंगे। नेपालगंज से काठमांडू के लिए हवाई जहाज़ से पहुँचेंगें तथा रात्रि निवास काठमांडू में ही रहेगा।

    दिन - 10काठमांडू से प्रस्थान

    सुबह नाश्ता लेने के बाद आपको त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पहुँचाया जायेगा जँहा से आप सकुशाल अपने घर वापसी की उड़ान लेंगे। यँही पर एक अविस्मरणीय अनुभूति के साथ आप की पवित्र दर्शनस्थल की यात्रा समाप्त होती है।

    दूरी -0 कि.मी.: ऊँचाई -1400 मीटर: भोजन शामिल – सुबह का नाश्ता

    यात्रा खर्च समावेश

    क्या आपके पैकेज की कीमत में शामिल नहीं है

    • काठमांडू में 3 सितारा होटल मानक आवास में
    • 2 रातें पूर्ण बोर्ड भोजन बेसिक के साथ और
    • 1 रात मानक होटल नेपालगंज में,
    • 1 रात सिमोकोट में। पूर्ण बोर्ड भोजन मूल यात्रा कार्यक्रम के अनुसार,
    • नेपाल में सूचीबद्ध यात्रा कार्यक्रम के अनुसार सभी आवश्यक परिवहन और दर्शनीय स्थल
    • नेपालगंज/सिमिकोट की दोनों तरफ की निश्चित उड़ानों का किराया शामिल है
    • सिमिकोट/हिलसा दोनों तरफ से निश्चित हेलीकाप्टर का किराया शामिल है
    • तकलाकोट तथा मानसरोवर झील के पास अतिथि गृह में रहना एवं 3 समय का शाकाहारी भोजन शामिल है
    • परिक्रमा के दौरान अतिथि गृह/शिविर मे रहना तथा 3 समय का शाकाहारी भोजन शामिल है
    • वैन/बस द्वारा यात्री तथा सामान लेकर तिब्बत सीमा से दारचन जाना तथा वापिस लेकर आनेवाली गाड़ी का किराया शामिल है
    • नेपाली टीम तथा उनके सहायकों का तिब्बत के कानून के हिसाब से खर्च
    • इंग्लिश मे बात कर ने वाले नेपाली तथा तिब्बत्ती गाइड
    • चीन का वीज़ा कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए
    • कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए तिब्बत जाने के लिए परमिट की फ़ीस
    • नेपाल – चीन सीमा कर और अन्य नेपाल और चीन कर
    • मुफ्त में 1 डफळ बैग और हवा से बचने हेतु जैकेट
    • यात्रा के दौरान भोजन व्यवस्था हेतु रसोई का सामान लेकर जाने के लिए याक
    • बुनियादी दवाइयां तथा मेडिकल सुविधाएं
    • तिब्बत मे ऑक्सीजन सिलंडर की व्यवस्था
    • यात्रा बीमा, अतिरिक्त होटल और अतिरिक्त दिन रुकने का खर्च, आपातकालीन परिस्थितीओं में होने वाला रहने, खाने या निष्कासन इत्यादि का खर्चा, आपातकाल मे मेडिकल खर्चा, परिक्रमा के लिए याक/घोड़ा या पिट्ठू का खर्चा, आपात वीज़ा तथा परमिट का खर्चा, यात्रा बीच मे छोड़कर वापिसी के लिए अतिरिक्त वाहन तथा प्राधिकारी का खर्चा, किसी भी प्रकार के व्यग्तिगत खर्चे, अन्य कोई भी खर्चा जो हमारी उपरोक्त खर्च वहन लिस्ट मे शामिल नहीं है अथवा कोई भी ऐसा खर्च जो अदृश्य परिस्थियों के कारण करना पड़े उस के लिये हम ज़िम्मेदार नहीं रहेंगे। इस प्रकार का खर्चा यात्री के द्वारा किया जायेगा।

    Compliments by Kailash Yatra Team of NTP

      • Duffle Bag
      • Cap
      • Jacket
      • Carry Bag, Passport Pouch
      • Yatra Completion Certificate
      Map
      kailash yatra from kathmandu
      Photos
      6 travellers are considering this tour right now!
      Show Buttons
      Hide Buttons